Wednesday, December 31, 2008

नया साल मंगलमय हो

हाथ जब मिलाना हो दिल भी साथ रख लेना
दिल अगर नहीं मिलते दोस्ती अधूरी है
नये साल में आप सभी को यही हार्दिक शुभकामनायें

2 comments:

diepou said...
This comment has been removed by the author.
diepou said...

नज़रों का नज़ारा या कहें नज़ारे जब तक ध्यान रहा हैं, तब तक आँखों का मिलना कहें या उससे गिर जाना और दिल का फिसलना पर सम्भलना नहीं इसमें नुक़सान बहुत हैं |