Thursday, October 4, 2007

एक इक कर के ज़ख्म धोना है...

एक इक कर के ज़ख्म धोना है
आज जी भर के मुझको रोना है

तेरी यादों के कीमती मोती
सांस की डोर में पिरोना है

मेरी आंखों को मेरे अश्कों का
सोते सोते भी बोझ ढोना है

ऐसे वैसे को सौंप दूं कैसे
दिल तो नाज़ुक सा इक खिलौना है

सोनी रुदादे ग़म बहुत सुन ली
बस भी कर अब तो हम को सोना है

2 comments:

Anonymous said...

Online Pharmacy for Cialis, Levitra, Tamiflu, Viagra. Order Generic Medication In own Pharmacy. Buy Pills Central.
[url=http://buypillscentral.com/buy-generic-brand-levitra-online.html]Purchase Top Quality Viagra, Cialis, Levitra, Tamiflu[/url]. canadian generic drugs. Top quality pills pharmacy

diepou said...

kripya pichla yani pehla comment hatane ki krupa karein, yeh koi scam/spam hain. dhanyavad. DK